स्कूलकी सीबीएसई संबद्धता या मान्यता ऑनलाईन जांचे

Share

स्कूलों की केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से संबद्धता या मान्यता अभिभावक सीबीएसई के अधिकृत वेबसाईट के जरिये कुछ क्षणों में प्राप्त कर सकते है.


Share
स्कूलकी सीबीएसई संबद्धता या मान्यता ऑनलाईन जांचे

Share

कई अभिभावकों को उनके बच्चों का स्कुल केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से संबद्ध या मान्यताप्राप्त है या नहीं इस बारे में जानकारी नहीं होती. स्कुल प्रशासन सीबीएसई से संबद्धता या मान्यताप्राप्तता दिखाकर अभिभावकों से मोटी फीस वसूल करते हैं और स्कूलों में फीस वृद्धि को सीबीएसई से संबद्धता या मान्यताप्राप्तता को एक बड़ी वजह बताते है. कई स्कुल तो सीबीएसई से संबद्ध या मान्यताप्राप्तता नहीं होने के बावजूद अपने आप को सीबीएसई से मान्यताप्राप्तता दिखाकर फर्जी तरीके से अभिभावकों को लुटने के कई उदाहरण देशभर में सामने आये है.

इतना ही नहीं कई स्कूल तो केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से संबद्ध या मान्यताप्राप्त ना होने के बावजूद खुलेआम अपने स्कूल के फीस के रसीदों में तथा वार्षिक अहवाल, डायरी, स्कूल के विविध बोर्ड आदि पर  खुद को सीबीएसई से संबद्ध तथा मान्यता प्राप्त होने का फर्जी दावा खुलेआम करते हैं, ऐसे में अभिभावकों के लिए यह लेख संगठन की तरफ से सार्वजानिक किया जा रहा है जिसके द्वारा अभिभावक कुछ मिनटों में उनका स्कूल सीबीएसई से संबद्ध है या नहीं इसकी जानकारी प्राप्त कर सकते.

स्कूलकी सीबीएसई संबद्धता या मान्यता ऑनलाईन जांचे-
सीबीएसई से कोई स्कूल मान्यताप्राप्त अथवा संबद्ध है या नहीं इसके लिए खुद सीबीएसई ने अपने ऑनलाईन पोर्टलद्वारा सुविधा उपलब्ध कर रखी है, जिसके द्वारा कोई भी व्यक्ति देशभर के किसी भी स्कूल की सीबीएसई संबद्धता तथा मान्यताप्राप्तता की जानकारी कुछ क्षणों में प्राप्त कर सकता है.

प्रक्रिया-
स्कूलकी सीबीएसई संबद्धता या मान्यता ऑनलाईन जानने के लिए सीबीएसई की मुख्य वेबसाइट की लिंक नीचे दी गई है सर्वप्रथम उस पर क्लिक करें-
http://cbse.nic.in/newsite/index.html
उपरोक्त लिंक क्लिक करने के बाद में सीबीएसई की होमपेज खोली जाएगी जिसका निम्नदर्शित होम पेज खुलेगा-

स्कूलकी सीबीएसई संबद्धता या मान्यता ऑनलाईन जांचे
स्कूलकी सीबीएसई संबद्धता या मान्यता ऑनलाईन जांचे

उपरोक्त निर्दीष्टित सीबीएसई का होमपेज खुलने के बाद में ‘Schools Directory’ पर क्लिक करना है (लाल रंग से चिन्हित भाग देंखे), जिसके बाद निम्नदर्शित पेज खुलेगा-

स्कूलकी सीबीएसई संबद्धता या मान्यता ऑनलाईन जांचेCbse-Affiliation-1-1
स्कूलकी सीबीएसई संबद्धता या मान्यता ऑनलाईन जांचे

इसके बाद आप स्कूल के नाम के अनुसार, संबद्धता क्रमांक के अनुसार, किसी राज्य अथवा राज्य में अलग-अलग जिलों के अनुसार अथवा उनके राज्य में कितने स्कूलों को सीबीएसई की संबद्धता तथा मान्यता प्राप्त हुई है इसकी पूरी लिस्ट देख सकते है.

जिन अभिभावकों को ऊपर दी हुई प्रक्रिया के द्वारा नहीं जांच करनी, वो नीचे दी गई हुई लिंक के द्वारा प्रत्यक्ष किसी भी स्कूल का विवरण डाल कर आसानीसे किसी भी राज्य, प्रादेशिक विभाग आदि के अनुसार सीबीएसई की संबद्धता तथा मान्यता की जांच कर सकते हैं.
http://cbseaff.nic.in/cbse_aff/schdir_Report/userview.aspx

हाल ही में मुंबई मिरर में छपी हुई एक न्यूज़ के अनुसार, सीबीएसई के दिल्ली कार्यालयद्वारा यह स्पष्टीकरण जारी किया गया है कि जिन स्कूल का नाम वेबसाइट पर सीबीएसई से संबद्ध अथवा मान्यता प्राप्त नहीं दिखेगा उन स्कूलों को सीबीएसई द्वारा कोई भी संबद्धता अथवा मान्यता नहीं दी गई है ऐसा मान लिया जाना चाहिए. उपरोक्त
संदर्भित मुंबई मिरर की न्यूज की लिंक-
https://mumbaimirror.indiatimes.com/mumbai/other/parents-confused-after-mahim-school-drops-mention-of-cbse/articleshow/67069226.cms

फर्जीवाड़े के खिलाफ अपराधिक मुकदमा करें-
जिन अभिभावकों को उनका स्कूल खुद को फर्जी तरीके से सीबीएसई संबद्ध तथा मान्यताप्राप्त बता रहा है, उस  स्कूल के खिलाफ अभिभावक धोखाधड़ी, फर्जीवाड़ा आदि गुनाहों के लिए भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत संबंधित पुलिस स्टेशन में केस दर्ज करा सकते हैं और ईसके अलावा ग्राहक न्यायालय में स्कूल के खिलाफ नुकसान भरपाई के लिए याचिका दायर कर सकते हैं.

यह आर्टिकल जरूर शेयर करें और भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी मुहिम में नीचे दी गई हुई सोशल मीडिया अकाउंट द्वारा जुड़ कर जरुर साथ दें, जयहिंद!
फेसबुक-
https://www.facebook.com/jaihindbks
टि्वटर-
https://twitter.com/jaihindbks
-ॲड.सिद्धार्थशंकर शर्मा
संस्थापक अध्यक्ष- भारतीय क्रांतिकारी संगठन

जरुर पढ़ें-
कानून, नियम, अध्यादेश, विधेयक तथा सरकारी योजना डाउनलोड तथा उपलब्ध करानेवाली सरकारी वेबसाईट
ट्राई की सुविधा से अनचाहे टेलीमार्केटिंग कॉलर का नंबर ९ दिन में हमेशा के लिए बंद करवायें


Share

Leave a Reply