BLOG

वेबसाईटने पैसे कमवून देणाऱ्या Website Monetizing Networks ची माहिती
मराठी टीप्स

वेबसाईटने पैसे कमवून देणाऱ्या Website Monetizing Networks ची माहिती

वेबसाईटद्वारे पैसे कसे कमवावेत याबाबत Google AdSense, Cuelinks, Infolinks, RevenueHits, Amazon, Commission Junction ई. कंपन्यांचे Affiliate व Publisher संबंधी माहिती.

वेबसाईट कशी बनवावी? WordPress वर Programmer च्या मदतीशिवाय वेबसाईट बनविणेबाबत मार्गदर्शिका
मराठी टीप्स

वेबसाईट कशी बनवावी? WordPress वर Programmer च्या मदतीशिवाय वेबसाईट बनविणेबाबत मार्गदर्शिका

आपल्या आवडीनुसार आपण स्वतः वेबसाईट बनवू शकता त्यास Monetize करून त्याद्वारे चांगली कमाई करू शकता तसेच WordPress द्वारे चांगली SEO (Search Engine Optimization) सुद्धा प्राप्त करू शकता.

Laws related to declaration of result, revaluation & verification of answer paper & court judgments
Legal Remedies (English)

Laws related to declaration of result, revaluation & verification of answer paper & court judgments

Provision related to declaration of result under Maharashtra Public Universities Act 2016 & judgement of Bombay High Court related to declaration of results & also complete guide for students to fight against delay in declaration of results and defective moderation of answer paper by the universities.

परीक्षांचे निकाल, उत्तरपत्रिका पुनर्तपासणी व पुनर्मुल्यांकनसंबंधी नियम, कायदे व न्यायालयीन निर्णय
मराठी कायदे मार्गदर्शन

परीक्षांचे निकाल, उत्तरपत्रिका पुनर्तपासणी व पुनर्मुल्यांकनसंबंधी नियम, कायदे व न्यायालयीन निर्णय

महाराष्ट्र विद्यापीठ अधिनियम १९९४, महाराष्ट्र सार्वजनिक विद्यापीठ अधिनियम २०१६ मधील निकालासंबंधी तरतुदी व मुंबई उच्च न्यायालयाचा आदेश व सविस्तर तपशील यांचा वापर करून विद्यार्थ्यांनी जन आंदोलन अथवा न्यायालयीन मार्गाने लढा दिल्यास मोठी क्रांती घडू शकेल.

मुंबई उच्च न्यायालयाकडून पालकास शाळेविरुद्ध कोणतीही तक्रार न करण्याचे लेखी आश्वासन देण्याचे निर्देश
मराठी न्यूज

मुंबई उच्च न्यायालयाकडून पालकास शाळेविरुद्ध कोणतीही तक्रार न करण्याचे लेखी आश्वासन देण्याचे निर्देश

पालकाने शाळेने बेकायदा शुल्कासाठी आल्यानं शाळेतून काढून टाकल्याचा आरोप करत मुंबई उच्च न्यायालयात पुनर्प्रवेशासाठी रिट याचिका दाखल केली आहे

Bombay High Court Directs Parent to Submit 'No Complaint Undertaking' for Daughter's Admission
BKS News (English)

Bombay High Court Directs Parent to Submit ‘No Complaint Undertaking’ for Daughter’s Admission

The parent has filed the writ petition against the school management over expulsion of his children over non payment of allegedly illegal fees.

लोकसेवक आपराधिक अभियोजन क़ानूनी प्रावधान न्यायालयीन निर्णय दंड संहिता १९७३
हिंदी क़ानूनी मार्गदर्शन

लोकसेवक के आपराधिक अभियोजन से संबंधित कानूनी प्रावधान और न्यायालयीन निर्णय

यदि किसी भी शिकायतकर्ता को  पता चल जाता है कि किसी भी लोकसेवक ने अपनी प्रत्यक्ष कार्रवाई से या अपने अप्रत्यक्ष कृत्य तथा क़ानूनी प्रावधानों की जानबूझकर अवज्ञा की  है जिसके परिणामस्वरूप कोई अपराध होता है या वो इस तरह आपराधिक साजिश में भाग लेता है,  तो वह दंड प्रक्रिया संहिता १९७३ की धारा १९७ (Section 197 of the Code of Criminal Procedure 1973) का संरक्षण नहीं ले सकता है और स्थानीय पुलिस स्टेशन या संबंधित मजिस्ट्रेट अदालत को ऐसे अपराध का संज्ञान लेना चाहिए और ऐसे मामलों में संबंधित सरकारों से आपराधिक अभियोजन के लिए मंजूरी तथा अनुमती (sanction from the state government) प्राप्त करना अनिवार्य नहीं होगा!

शिवशाही बस दंडात्मक कारवाई महाराष्ट्र राज्य मार्ग परिवहन महामंडळ
मराठी न्यूज

वकिलाच्या तक्रारीनंतर प्रवाशांचा जीव धोक्यात घालणाऱ्या शिवशाही बसवर दंडात्मक कारवाईचे आदेश

शिवशाही बस संदर्भात महाराष्ट्र राज्य मार्ग परिवहन महामंडळाने (MSRTC) आपले सरकार तक्रार निवारण पोर्टलवरील तक्रारीची दखल घेऊन दंडात्मक कारवाईचे आदेश दिले आहेत

हिंदी क़ानूनी मार्गदर्शन

एफआईआर (FIR) या आपराधिक मुकदमा कैसे दर्ज करें- अदालत तथा आयोगसमक्ष प्रक्रियाओंसंबंधी मार्गदर्शन

एफआईआर (प्रथम सूचना रिपोर्ट) को दंड प्रक्रिया संहिता १९७३ (The Code Of Criminal Procedure 1973) के प्रावधानोंद्वारा मजिस्ट्रेट अदालतों के माध्यम से और संबंधित कानूनों के खिलाफ विभिन्न आयोगों के माध्यम से दर्ज किया जा सकता है

अदालत तथा न्यायालय और विभिन्न आयोग में शिकायत कैसे दर्ज करें क़ानूनी मसौदा संलग्न Hindi Legal Sample Draft
हिंदी क़ानूनी मार्गदर्शन

अदालत तथा न्यायालय और विभिन्न आयोग में शिकायत कैसे दर्ज करें क़ानूनी मसौदा संलग्न

मैंने यह भी देखा है कि ऐसे कई लोग हैं, जिनके पास विभिन्न प्राधिकरणों, आयोगों और अदालतों में व्यक्तिगत रूप से बहस करने और लड़ने की जबरदस्त क्षमता है और सिर्फ इसलिए कि उनके पास इस तरह की याचिका तथा शिकायतें दर्ज करने के बारे में कोई निश्चित प्रारूप (Legal Draft Format), नमूना प्रारूप (Sample Legal Draft) या बुनियादी दिशानिर्देश नहीं हैं या वे विभिन्न अदालतों, आयोगों और अधिकारियों के समक्ष अपने मामलों या शिकायतों को पेशेवर तरीके से दर्ज कराने में विफल रहते हैं. इसलिए मैं हमेशा आम लोगों के लिए सामान्य मसौदा प्रारूप (Sample Legal Draft) सलग्न